मयुर शेलके ने एक बार फिर जीता दिल,इनाम के पैसे बच्चे को दिए

मयुर शेलके ने एक बार फिर जीता दिल,इनाम के पैसे बच्चे को दिए

मुंबई के सेन्ट्रल लाइन के वागंनी रेलवे स्टेशन के पटरियो पर गिरे एक बच्चे को बचाने की तस्वीरे सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी. मयुर शेलके नाम के शख्स ने बच्चे को बचाया. मयुर शेलके रेलवे में प्वाइंट मैन का काम करते है. अपनी जान पर खेलकर मुंबई लोकल ट्रेन के वांगनी स्टेशन पर एक बच्चे की जान बचाई थी..

पटरी पर फंसे बच्चे को बचाने के लिए दांव पर लगा दी अपनी जान! देखें क्या बोले  मयूर शेलखे - Mumbai: Here's what Mayur Shelke said on saving 6 year old -  Maharashtra AajTak


मयुर ने बच्चे की जान बचाने की एवज में उसे रेल विभाग की तरफ से मिल रहे 50 हजार रूपए ईनाम की रकम में आधा उस बच्चे को देने का फैसला किया है जिसकी उन्होने जान बचाई थी. मयुर का कहना है कि उन्हे मालूम हुआ है कि बच्चे की आर्थिक स्थिति काफी खराब है इसलिए वो ऐसा काम कर रहे है.

Maharashtra: रेलवे कर्मी के जज्बे को सलाम, तेज रफ्तार ट्रेन आती देख ट्रेक  पर गिरे बच्चे को बचाया, अब मंत्रालय देगा ईनाम | railway pointsman saved the  life of a 6 year


यह घटना शनिवार के दोपहर के 3.बजकर 45 मिनट के आस-पास की है जो पूरी सीसीटीवी (CCTV) में कैद हुई. जिसका बेटा गिरा वो महिला आंखों से देख नही पाती. बेटे की उम्र सिर्फ 6 साल है. मां का नाम संगीता शिरसाट है और वो ट्रेनो के अंदर सामान बेचकर अपना निर्वाह करती है. महिला का कहना है कि उसे अंदाज ना लगने के कारण बेटा पटरियो पर गिर गया. संगीत ने बेटे की जान बचाने वाले मयुर का धन्यवाद किया था और कहा था कि सरकार इन्हे कुछ इनाम दे. बच्चे की जान बचाने वाले मयुर का कहना है कि कुछ पलो के लिए वह भी डर गया था लेकिन फिर उसने खतरा उठाया. मयुर की माने तो सिर्फ कुछ पलो का ही फासला था जिंदगी और मौत के बीच>तभी भगवान की तरह मयूर ने अपनी जान पर खेलकर उसकी जान बचाई जिसकी वाहवाई काफी चर्चा में है…

ताज़ातरीन हादसा