14 महीने बाद रिहा  हुई मेहबूबा ने फिर पहल की अनुच्छेद 370 के  संघर्ष की

14 महीने बाद रिहा हुई मेहबूबा ने फिर पहल की अनुच्छेद 370 के संघर्ष की

Spread to all

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती

By Poonam Rajpoot

पूरे 14 महीनें के बाद जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती रिहा होकर अपने मुल्क वापस आ चुकी है ।और आते ही अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए एक बार फिर से सुर्खियों में बन गई है । रिहा होते ही महबूबा ने अपने बयान के जरिए एजेंडा घोषित कर दिया है। रिहा होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा ने ट्विटर हैंडल पर अपना बयान जारी कर विशेष दर्जे के लिए जद्दोजहद जारी रखने का एलान किया। महबूबा ने कहा-मैं एक साल से भी ज्यादा अरसे बाद रिहा हुई हूं। पांच अगस्त के काले दिन का काला फैसला हर पल मेरे दिल और रूह पर वार करता रहा। यही कैफियत जम्मू-कश्मीर के तमाम लोगों की रही होगी। कोई भी शख्स उस दिन की डाकाजनी और बेइज्जती को कतई भूल नहीं सकता। रिहा होते ही मेहबूबा मुफ्ती ने 370 अनुच्छेद हटाने की पहल कर दी है।

बतादे मामला 14 महीने पहले का है । जब महबूबा को पीएफ के तहस केद किया गया था लेकिन कुछ दिनों बाद उन्हे अस्थायी जेल से उनके आवास शिफ्ट कर कर दिया गया है हालांकि जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत पीडीपी नेता हिरासत में ही रही थी । बीते दिनों ही रिहा किया गया है।जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के फैसले से पहले उन्हें हिरासत में लिया गया था। नेशनल कांफ्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला को मार्च में ही रिहा कर दिया गया था। इसके बाद लगातार महबूबा को रिहा करने की मांग उठ रही थी। सरकार को इसके लिए बार-बार कठघरे में खड़ा किया जा रहा था।


Spread to all
Live Updates COVID-19 CASES